कीगल एक्सरसाइज के नुकसान

कीगल एक्सरसाइज के नुकसान

कीगल एक्सरसाइज के नुकसान!

कीगल एक्सरसाइज एक आदिम तकनीक है जिसे प्राचीन समय से उपयोग में लिया जाता रहा है।

इसका मुख्य उद्देश्य पेल्विक फ्लोर की मजबूती को बढ़ाना और यौन स्वास्थ्य को सुधारना है।

इस लेख में, हम कीगल एक्सरसाइज करने के नुकसान के बारे में गहराई से जानेंगे और आपको विशेषज्ञ सलाह देंगे जो इसे करना चाहते हैं।

कीगल एक्सरसाइज क्या है?

कीगल एक्सरसाइज एक प्रकार का पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज है जो मूत्राशय, गर्भाशय, और आंतरिक जननांगों के नीचे स्थित पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

इस एक्सरसाइज का नाम अपने आविष्कारक डॉ. आर्नेस्ट कीगल के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने इसे पहली बार 1948 में पेश किया था।

विशेषज्ञ सलाह: कीगल एक्सरसाइज कैसे करें?

कीगल एक्सरसाइज को सही तरीके से करने के लिए, निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. शुरुआत में, आपको पेट के निचले हिस्से को तंग करने वाले पेल्विक फ्लोर को पहचानना होगा।
  2. इसे रोकर और धीरे से छोड़कर कुछ बार अभ्यास करें।
  3. धीरे से धीरे पेल्विक फ्लोर को अधिक से अधिक समय तक रोकने का प्रयास करें।
  4. सांस रोकते हुए अपने पेल्विक फ्लोर को रोकने का प्रयास करें और फिर सांस छोड़ें।
  5. धीरे से धीरे एक्सरसाइज को बढ़ाएं और पेल्विक फ्लोर को ज्यादा से ज्यादा समय तक रोकने का प्रयास करें।

ध्यान दें: इस एक्सरसाइज को रोज़ाना करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें और यह एक्सरसाइज सही तरीके से करने के लिए एक प्रशिक्षित योग या फिजियोथेरेपिस्ट के साथ काम करें।

कीगल एक्सरसाइज के नुकसान

कीगल एक्सरसाइज कई लाभों के साथ संबंधित है, लेकिन इसके उपयोग में नकारात्मक पहलुओं को भी ध्यान में रखा जाना चाहिए।

नीचे हम कीगल एक्सरसाइज करते समय होने वाले कुछ नुकसानों पर विचार करेंगे:

1. मूत्र संबंधी समस्याएं

अत्यधिक कीगल एक्सरसाइज करने से पेल्विक फ्लोर के मांसपेशियों में ज्यादा दबाव पड़ सकता है, जिससे मूत्राशय के संबंध में दिक्कतें हो सकती हैं।

यह समस्याएं या भी हो सकती हैं जिनके परिणामस्वरूप बार-बार मूत्र आना, पेशाब करते समय दर्द महसूस होना या मूत्राशय से संबंधित अन्य असुविधाएं हो सकती हैं।

2. योनि इन्फेक्शन

अधिक कीगल एक्सरसाइज करने से योनि के स्वास्थ्य को भी प्रभावित किया जा सकता है।

अगर आप सही तरीके से स्वच्छता नहीं रखते हैं या एक्सरसाइज के लिए संतुलित डाइट नहीं लेते हैं, तो योनि में संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है।

3. पेशाब में संबंधित समस्याएं

कीगल एक्सरसाइज के अधिक उपयोग से पेल्विक फ्लोर के मांसपेशियों में ज्यादा तनाव हो सकता है, जिससे पेशाब करने में समस्याएं हो सकती हैं।

यह समस्या ज्यादातर महिलाओं में देखी जाती है जो गर्भावस्था के दौरान कीगल एक्सरसाइज को अधिक करती हैं।

4. पीठ दर्द

कुछ लोगों को कीगल एक्सरसाइज करते समय पीठ में दर्द हो सकता है, खासतौर से जिनमें पीठ की मजबूती कम हो।

यदि आपको ऐसी समस्या होती है, तो आपको एक्सरसाइज को धीरे से बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए और अधिक समय तक नहीं करना चाहिए।

Related Posts:

5. यौन समस्याएं

ज्यादा कीगल एक्सरसाइज करने से यौन संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं।

यह समस्याएं शीघ्रपतन, सेक्स में दर्द, और सेक्स के दौरान आनंद की कमी के रूप में दिखाई दे सकती हैं।

FAQ’s (प्रायः पूछे जाने वाले प्रश्न)

कीगल एक्सरसाइज करने के लिए सबसे अधिक समय क्या है?

कीगल एक्सरसाइज के लिए सबसे अधिक समय दोपहर के बाद या संध्या के बाद होता है।

इस समय पर मांसपेशियों की मजबूती और सहजता होती है, जिससे एक्सरसाइज का अधिक से अधिक लाभ मिलता है।

कीगल एक्सरसाइज करने के लिए कितनी बार करना चाहिए?

कीगल एक्सरसाइज को शुरुआत में दिन में 10-15 बार करना चाहिए और धीरे से धीरे इसे बढ़ाते जाना चाहिए।

ध्यान दें कि इसे एक साथ लंबे समय तक रोकने का प्रयास करें और धीरे से छोड़ें।

कीगल एक्सरसाइज को रोज़ाना कितने समय तक करें?

कीगल एक्सरसाइज को रोज़ाना कम से कम 5-10 मिनट तक करना चाहिए।

इसे नियमित रूप से करने से पेल्विक फ्लोर की मजबूती बढ़ती है और यौन स्वास्थ्य में सुधार होता है।

कीगल एक्सरसाइज गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित है?

जी हां, कीगल एक्सरसाइज गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित है, लेकिन इसे करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लेना अत्यंत आवश्यक है। वे आपके शारीरिक स्थिति और स्वास्थ्य के आधार पर आपको सही निर्देशन देंगे।

क्या कीगल एक्सरसाइज सेक्स समस्याओं को सुधारता है?

जी हां, कीगल एक्सरसाइज सेक्स समस्याओं को सुधारने में मदद कर सकती है।

यह समस्याएं शीघ्रपतन और सेक्स में आनंद की कमी के रूप में हो सकती हैं।

संक्षेपण

कीगल एक्सरसाइज एक महत्वपूर्ण तकनीक है जो पेल्विक फ्लोर की मजबूती को बढ़ाने में मदद करती है

और यौन स्वास्थ्य को सुधारती है। हालांकि, इसके उपयोग में होने वाले नुकसानों को भी ध्यान में रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

सही तरीके से एक्सरसाइज करने के लिए एक प्रशिक्षित व्यक्ति की सलाह लेना सुनिश्चित करें और उसके निर्देशानुसार ही इसे करें।

इस लेख में दिए गए जानकारी का उपयोग करके, आप सही ढंग से कीगल एक्सरसाइज कर सकते हैं

और इसके लाभ उठा सकते हैं।

याद रखें, स्वास्थ्य से संबंधित जितना भी बाह्य ज्ञान उपलब्ध हो,

उसका सच्चाई से परिणाम करने के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श लेना हमेशा सबसे बेहतर होता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *